3 ग़लतियों से सावधानी बनाएगी आपका म्यूजिक करियर सुपरहिट!

सावधानी हटी, दुर्घटना घटी! भई ये कहावत सब ने कभी न कभी सुनी ही होती है । केवल सड़क पर ही नहीं, ये आपके करियर पर भी लागू होती है । और बात जब हो संगीत जगत की, फिर तो इस पर ग़ौर करना लाज़मी है । आज अधिकांश लोग म्यूजिक या संगीत करियर बनाने की राह पर निकल पड़ते हैं, पर ये नहीं जानते की इस राह में क्या क्या ग़लतियां नहीं करनी । शुरू शुरू में उन्हें ये एहसास भी नहीं होता है कि इन भूल चूक का सीधा प्रभाव उनके वित्तीय जीवन पर भी पड़ेगा ।

यदि आप भी संगीत के इच्छुक हैं और इसे करियर के रूप में आगे बढ़ाना चाहते हैं तो आप सही जगह पर हैं । अधिकांश संगीतकारों को यह नहीं पता कि संगीत व्यवसाय में अच्छा पैसा कैसे कमाया जाए? यह लेख इसी सिलसिले में हैं ।

गया वो ज़माना जब एक कलाकार अपने संगीत की बिक्री पर पूरी तरह भरोसा कर सकता था और विश्व का दौरा कर अपना जीवन गुज़ार लेता था । हालाँकि हाल ही के वर्षों में संगीत की बिक्री काफी नीचे गई है वहीँ दूसरी ओर संगीतकारों के लिए उपलब्ध आय के नए स्रोत भी खुले हैं जैसे free music online वेबसाइट्स ।

तो आईये नज़र डालते हैं उन 3 ग़लतियों पर जो आपकी सफ़लता की राह में बन सकती हैं बाधा और जिन से बचकर आप अपनावित्तीय जीवन चमका सकते हैं


  1. पहली ग़लती: अपने लक्ष्यों की योजना ना बनाना
  • अधिकांश संगीतकार बिना किसी की मदद के इस इंडस्ट्री से जुड़ने आते हैं | यहाँ परक्याकरना है, औरकैसेकरना है,ये उनको नहीं पता होता। ऐसी स्थिति में उन्हें चाहिए की वो किसी मेंटर को ढूंढें जो उन्हें ट्रेन कर सके और इस व्यवसाय में आमदनी कराए ।
  • अपने आप से पूछें की आप संगीत से क्या चाहते हैं; कैसा हो म्यूजिक, कौन उसको सुन्ना पसंद करेगा? इत्यादि । इसके बाद एक रणनीति के तहत अपने आप से ये सवाल करें –
  1. मेरी सालाना आय लगभग कितनी होनी चाहिए?
  2. उस आय को पाने के क्या क्या स्त्रोत मौजूद हैं?
  3. उन स्त्रोतों के लिए क्या एक्शन लेना होगा?
  4. कैसे म्यूजिक के बिज़नेस में हाई लेवल मूल्य जोड़ा जाये?
बिना इन प्रश्नों के उत्तर दिए आप सही दिशा में नहीं चल सकेंगे ।

  1. दूसरी ग़लती: इनकम के ज़रिये को ना समझना
  • आजकल लगभग सभी संगीतकार, संगीत व्यवसाय में एक ही मानसिकता के साथ प्रवेश करते हैं, जो वे किसी आम नौकरी की तलाश में करते हों । यह तरीका एक संगीतकार के रूप में जीवन बिताना थोड़ा मुश्किल बना देता है। लोग केवल यह समझ बैठते हैं कि बस उनके mp3 songs एल्बम की सेल से ही उनका काम चल जाएगा ।
  • ऐसे में ज़रुरत है दो या तीन कमाई के विभिन्न स्त्रोतों को पहचानने की, जैसेप्रकाशन, ब्रांडिंग और भ्रमण (टूरकरना)
  • आइए थोड़ा विस्तार से समझ लें कि कैसे ये तीन एहम चीज़ें हैं कमाई के लिए –
  1. प्रकाशन – अंग्रेजी में जिसे पब्लिशिंग भी कहते हैं, यह पहला मुद्दा है। आपके खुद के लिखे हुए संगीत को रिकॉर्ड कर किसी ऑनलाइन म्यूजिक साइट पर पब्लिश कर सकते हैं जिससे आपको अपने कामों को प्रकाशित और नियंत्रित करने की क्षमता मिलती है।

       2. ब्रांडिंग – सही ब्रांडिंग लोगों की नज़रों में एक पेशेवर उपस्थिति, विश्वसनीयता और विश्वास बनाता है । लोग ऑनलाइन उस से खरीदारी करना पसंद करते हैं जो वैध या भरोसेमंद दिखाई दे ।इसमें वो हर चीज़ आ जाती है जो आपकी इमेज और पहचान से जुडी हो; म्यूजिक सिंबल जो स्पष्ट करें की आप किस प्रकार के म्यूजिशियन हैं, इसी प्रकार से अन्य प्रोडक्ट जो आपके म्यूजिकल मिशन को एक अनोखा ब्रांड, अनोखी पहचान दे ।

3.  इवेंट करना – संगीत महोत्सव आजकल काफ़ी डिमांड में रहते हैं । स्कूल और कॉलेज के लेवल से लेकर विश्व स्टार तक  के ये इवेंट, न केवल भारी भीड़ इकठ्ठा करते हैं, बल्कि तगड़ी कमाई भी कराते हैं। निचले स्तर से शुरआत करने में कोई हर्ज नहीं है, बल्कि यह शो के प्रमोटर्स को मदद देता है आपको फेमस करने में । कुछ इवेंट्स ऑनलाइन या लाइव  प्रतियोगिता के रूप में भी होते हैं । इन को नज़रअंदाज़ ना करें क्यूंकि इन में अच्छे मौके मिलते हैं कैश और गिफ्ट्स से लेकर किसी बड़े रिकॉर्ड लेबल के साथ अपना गाना लॉन्च करने के



3.) तीसरी ग़लती: अपनी मार्किट की पहचान करना

यदि आप कोई नया एल्बम बनाते हैं या फिर उसे किसी online music site पर लॉन्च करते हैं तो आपको यह जानना पड़ेगा कि:

–              कौन उसे खरीदेगा?
–              आप किस तरह उन ग्राहकों से खुद को जोड़ेंगे?
–              आप क्या कदम उठाएंगे वेबसाइट के विज़िटर्स को फैंस में तब्दील करने के लिए?
–              अगर आपका लक्ष्य फ़्रीलांस म्यूजिशियन बनना है तो क्या आपने उन सभी स्टूडियोज, बैंड्स या कलाकारों की लिस्ट बनाई जो आप जैसे व्यक्ति की तलाश में हैं?

यह कुछ चीज़ें हैं जिनमे काफी म्यूजिशियन लापरवाही दिखाते हैं और अपनी मार्किट की पहचान करने में समय नहींलगाते इससे जो नुकसान होता है वो यह है कि आप पूरी क्षमता और समय लगाकर जो म्यूजिक तैय्यार करेंगे वो आपको रिटर्न में उतना पैसा नहीं देगा, क्यूँकि आपने ग्राहकों का ऐसा डेटाबेस नहीं बनाया हुआ होगा जो आपका प्रोडक्ट खरीदने में रुची दिखाएं।
डेटाबेस बनता है इन चीज़ों से –
  1. सही डिस्ट्रीब्यूशन अब संगीत और मीडिया व्यवसाय में कई छोटे बड़े डिस्ट्रीब्यूटर प्रवेश कर चुके हैं । ये वो साइट्स हैं जो royalty free stock photos  के अलावा गेम्स और म्यूजिक भी डिस्ट्रीब्यूट करती हैं । कुछ music store online कंपनी अपने वेबसाइट द्वारा आपका म्यूजिक डिजिटल तरीके जैसे iTunes, Spotify, Sabakuch, आदि पर बेचने में मदद करती हैं। इसके अलावा कोशिश करें कि आप म्यूजिक ऐप्प्स पर भी अपने रिकॉर्ड किये हुए गानों को डिस्ट्रीब्यूट करवाएं। म्यूजिक ऐप्प जैसे सबकुछ म्यूजिक , shazam, आदि , फैंस को आपका नाम जाने बिना ही आपके गानों तक पहुँचाने में खासे कारगर साबित होती हैं ।
        2.सोशल नेटवर्किंगसोशल मीडिया का आज क्या महत्त्व है, यह बताने की ज़रुरत नहीं। अपने पर्सनल सोशल नेटवर्क को अपने प्रोफेशनल सोशल नेटवर्क से अलग ना करना भी आम ग़लती है जिससे डेटाबेस पर ख़राब असर होता है। अपने प्रोफेशनल वेब पेज के लुक में अपने ब्रांड को दर्शाएं । इस नेटवर्क पर अपने फैंस से आप बातचीत कीजिये और म्यूजिक के अलावा अन्य विषयों में भी जानकारी दिखाईये ।

अंत में ये याद रखें की संगीत जगत में एक महान हस्ती बनने के लिए कोई एक फार्मूला या मार्ग नहीं है । हाँ, यह ज़रूर है कि इस लेख में दिए हुए टिप्स को फॉलो कर के, कुछ गलतियां करने से यदि आप बचते हैं तो आपके म्यूजिक करियर में स्थिर इनकम प्राप्त करने के मौके बढ़ जाएंगे।

Source : http://bit.do/sabakuch 

Comments

Popular posts from this blog

Is Your Song an Earworm? Find Out

Get Latest Bollywood Music Online